भारत का Super Natwarlal, जिसने जज की कुर्सी पर बैठकर 2270 अपराधियों को दी जमानत, मजिस्ट्रेट के नाम लेटर टाइप पर भेजा छुट्टी पर, हैरान कर देने वाले कारनामे

भारत में ‘सुपर नटवरलाल’ और ‘इंडियन चार्ल्स शोभराज’ के नाम से कुख्यात धनीराम मित्तल की 85 साल की उम्र में हार्ट अटैक से मौत हो गई। वह भारत के सबसे विद्वान और बुद्धिमान अपराधियों के रूप में जाना जाता था। कानून में स्नातक की डिग्री लेने और हैंडराइटिंग एक्सपर्ट एवं ग्रॉफोलॉजिस्ट होने के बावजूद उसने चोरी

पूर्वांचल की सबसे बड़ी कोयला मंडी पर वर्चस्व कायम करने को कोल व्यापारी का अपहरण और फिर हत्या, दहशतगर्दी की वह शाम आज तक नहीं भूले परिजन

मुख्तार अंसारी ने मुख्य रूप से पूर्वांचल के व्यापारियों में अपनी हनक कायम रखी थी। चंदौली जिले के मुगलसराय में मुख्तार अंसारी ने 27 वर्ष पहले चंधासी स्थित कोयला मंडी के प्रमुख व्यवसायी व विहिप के कोषाध्यक्ष नंदकिशोर रुंगटा का अपहरण कर पूरी कोयला मंडी में अपना वर्चस्व स्थापित करने का प्रयास किया था। न

End of Mafia: सरकारें आईं-गईं, जेल से ही माफिया चलाता रहा अपनी सरकार, मुख़्तार के साथ ही ‘आतंक के अध्याय’ का खात्मा

मुख्तार ने पूर्वांचल में अपने अपराध का साम्राज्य फैला रखा था। करीब 36 सालों से वह अपराध की दुनिया में सक्रिय था। किसी जमाने में यूपी की सियासत में भी मुख्तार का सिक्का चलता था। जेल में वह दरबार लगाता था। 36 साल के आपराधिक इतिहास में मुख्तार का नाम कई चर्चित मामलों में आया। उस पर विश्व हिंदू परिषद के

Ajay Singh Murder Case: इधर मुख़्तार की मौत, उधर 14 साल बाद मन्ना सिंह की तस्वीर पर चढ़ाई माला, गाजीपुर में दिनदहाड़े गोलियों से भूनकर हुई थी हत्या, परिवार बोला – अब मिली शांति

28 मार्च को जब मुख्तार की मौत की खबर सामने आई, तो अजय सिंह के बेटे विकास सिंह ने अपने पिता की तस्वीर पर 14 साल में पहली बार फूल माला चढ़ाई और उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। इसके बाद परिवार की आंख से खुशी के आंसू छलक पड़े। मन्ना सिंह की पत्नी ने कहा मुझे आज शांति मिली है। मेरे पति की आत्मा को भी आज शा

Mukhtar Ansari Death: खत्म हो गया एक और माफिया का राज, कभी दहशत से यूपी, पंजाब समेत कई राज्यों में कायम किया था आतंक का साम्राज्य

बांदा जेल में अपने जुर्मों की सजा काट रहे मुख़्तार अंसारी की मौत के बाद उसके दुश्वारियों का भी अंत हो गीता। मुख़्तार पर हत्या, लूट, डकैती, अपहरण, रंगदारी, गैंगस्टर, एनएसए जैसी विभिन्न जघन्य प्रकृति के अपराधों के लगभग 65 से अधिक मुकदमे दर्ज हैं। योगी सरकार ने एक तरफ अदालतों में माफिया के खिलाफ प्रभाव

योगी सरकार में मिट्टी में मिल गई Mafia Mukhtar Ansari की सल्तनत, माफिया के साथी-बाराती सबकी आई शामत, एक-एक कर शूटर हुए ढेर

हत्या, लूट, डकैती, अपहरण, रंगदारी, गैंगस्टर, एनएसए जैसी विभिन्न जघन्य प्रकृति के अपराधों के लगभग 65 से अधिक मुकदमे मुख्तार पर दर्ज हैं। योगी सरकार एक तरफ अदालतों में माफिया के खिलाफ प्रभावी पैरवी करके इसे सजा के मुहाने पर पहुंचा रही है। वहीं दूसरी तरफ इसके पूरे सल्तनत के खिलाफ भी बड़े पैमाने पर अभिय

यूपी में आतंक का साम्राज्य फिर से कायम करने की साजिश के एक साल, मिट्टी में मिल गई अतीक की सल्तनत, बिखरा कुनबा, जानिए कितनों को मिली सजा - Umesh Pal Murder Case

तीक अहमद के पुत्र, नौ अज्ञात, व अतीक के अन्य अज्ञात सहयोगियों को भी आरोपी बनाया गया। विवेचना शुरू होने से लेकर अब तक इस मामले में कुल 23 अन्य आरोपियों के नाम भी सामने आ चुके हैं। इनमें सात शूटरों के नाम हैं, जिन्होंने मौके पर बम गोलियां बरसाकर उमेश पाल व उनके दो गनरों की हत्या की। इसमें गुड्डू मुस्ल

Rungta Kidnapping Case: यूपी में दहशत फ़ैलाने वाला कोर्ट में खुद दहशत में, जानिए रुंगटा केस की पूरी कहानी

महावीर प्रसाद रुंगटा ने धमकी देने के मामले में 26 वर्ष पहले मुकदमा दर्ज कराया था। उस दौरान रुंगटा (Rungta) के परिजन डर से सहम गए थे। वादी ने अदालत में अपने बयान में कहा था कि डर के कारण ही हमने डीआईजी रेंज को तहरीर दी और मामले को गोपनीय रखने को कहा था। वादी ने यह भी कहा कि अभियुक्त के खिलाफ पहले से

राजनीति व अपराध की दुनिया का धुरंधर रहा है बाहुबली विधायक विजय मिश्र, पढ़िए पूरी क्राइम कुंडली

वाराणसी के जैतपुरा की रहने वाली एक गायिका ने पूर्व विधायक विजय मिश्र, बेटे विष्णु मिश्र व नाती विकास मिश्र के खिलाफ सामूहिक दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कराया गया था। जिसमें करीब तीन साल से कोर्ट में सुनवाई चल रही थी।

क्या है रामपुर का ‘कारतूस कांड’? जिसमें हिल गया था पूरा यूपी

29 अप्रैल साल 2010 में यूपी की एसटीएफ की टीम एक आरोपी को गिरफ्तार करती है और इस मामले की जांच एसटीएफ टीम के एस० आई प्रमोद कुमार करते हैं। इस मामले के जांच के दौरान आरोपी के पास से एक डायरी सामने आती हैं, जिसमे कई लोगों के नाम व नंबर लिखा हुआ मिलता है। इस डायरी में मिले नाम व नंबर के आधार पर एसटीएफ क

Latest News

Latest News