Nalanda University: खिलजी ने नालंदा में लगाई थी आग, वर्षों तक जलती रही थीं किताबें

प्राचीन काल में भारत शिक्षा का केंद्र हुआ करता था। इस विश्वविद्यालय की स्थापना गुप्त शासनकाल में कुमार गुप्त प्रथम (450-470) ने की थी। नौवीं शताब्दी से बारहवीं शताब्दी तक इस विश्वविद्यालय को अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त थी। यहां इतनी किताबें रखी थीं कि जिन्हें गिन पाना आसान नहीं था। हर विषय की किताब

Ayodhya Ram Mandir: पौराणिक मान्यताओं से वास्तविकता तक का सफर, एक नए युग के शुरुआत का प्रतीक है अयोध्या का राम मंदिर

भारत विविध संस्कृतियों और धर्मों का देश है और अयोध्या राम मंदिर ( Ayodhya Ram Mandir) का इतिहास इसके समृद्ध और जटिल अतीत के लिए एक वसीयतनामे के रूप में खड़ा है। अयोध्या राम मंदिर, जिसे राम जन्मभूमि के नाम से भी जाना जाता है, भारत में सबसे महत्वपूर्ण और विवादास्पद धार्मिक स्थलों में से एक है। मंदि

“जब भीड़ सिस्टम पर हावी होती है, तब सरकारें निक्कमी हो जाती हैं” तस्वीरें बताती हैं, जब भीड़ तंत्र के आगे नतमस्तक हुई सरकार

तस्वीरें शक्तिशाली होती हैं। ये मन-मस्तिष्क में बैठ जाती हैं। तस्वीरें कहानियाँ बताती हैं। दुर्भाग्य से हमारे लिए ऐसी बहुत सी तस्वीरें हैं, जो किसी सरकार के कमजोर होने और भीड़ के सामने बेबस एवं लाचार होने की कहानी बयाँ कर सकती हैं। जब सरकार कमजोर होती है तो उस स्थान पर अराजकतावादी, कट्टरपंथी और शैता

Venktesh Bala Ji: 1857 की गदर क्रांति से जुड़ा है काशी के इस मंदिर का इतिहास, यहां उस्ताद बिस्स्मिलाह खां को हनुमान जी ने दिए थे दर्शन

गंगा का किनारा, पंचगंगा घाट की सीढियां, मंगला गौरी मंदिर, उसी के निकट पूजन करते भक्तगणों की टोली से बिना ढोल मंजीरा के बीच ऐसी लय, ‘जय तिरुपति बालाजी , जय तिरुपति बालाजी, जय जय वेंकट स्वामी, तुम हो अंतर्यामी, जय श्री नाथ हरी, जय तिरुपति बालाजी … जिसे सुन अनायास ही मन उस ओर खींचा चला जा रहा थ

एक या दो बार नहीं इस्लामी आक्रांताओं ने कई बार तोड़ा काशी विश्वनाथ मंदिर, पढ़िए पूरा इतिहास

लोगों ने मुग़ल आक्रांता औरंगजेब के डर से मंदिरों को अपने घरों में छुपा दिया था। जिसके बाद यहां के घरों में भी मंदिर होने लगे। विश्वनाथ कॉरीडोर बनते समय घरों के टूटने पर ऐसे ही कुछ मंदिरों के अवशेष सामने आए। पुरातत्वविदों के रिसर्च से पता चला कि इन मंदिरों में कई का इतिहास 5000 वर्ष पुराना तो कई मूर्

Love Stories: 7 प्रेम कहानियां जो भारतीय इतिहास में हो गई अमर, बाजीराव के वियोग में मस्तानी ने दिए प्राण, पृथ्वीराज के लिए संयोगिता भी सती हो गई…

भारत के इतिहास में ढेरों प्रेम कहानियां दफन हैं। हमारे इतिहास में मोहब्बत के कई फ़साने हैं। कुछ कहानियां ऐसी हैं, जो कि हजारों वर्षों तक याद की जाएंगी। इनके बारे में पढकर हर प्यार करने वाले के रोंगटे खड़े हो जाएंगे। आइये जानते हैं उन कभी न मिट पाने वाले मोहब्बत के अफ़सानो के बारे में-

Markandey Mahadev: काशी का वह शिवालय जहां यमराज को भी माननी पड़ी थी हार, लौटना पड़ गया था खाली हाथ

वाराणसी शहर से 30 किमी दूर एक ऐसा शिव मंदिर है, जहां काल की भी एक नहीं चलती। कालांतर में जहां से काल को भी खाली हाथ लौटना पड़ा था। वाराणसी-गाजीपुर मार्ग पर गंगा-गोमती संगम तट पर मार्कण्डेय महादेव (Markandey Mahadev) का मंदिर स्थित है। द्वादश ज्योतिर्लिंगों के समकक्ष इस धाम की चर्चा श्री मार्कण्डेय प

काशी की 350 वर्ष पुरानी अनोखी परंपरा: जलती चिताओं के बीच रात भर घुंघरू छनकाती है नगरवधुओं की महफ़िल

अकबर के सेनापति मानसिंह ने बनारस में भगवान शिव के एक मंदिर का जीर्णोद्धार कराया था। तब वह वहां एक सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन कराना चाहते थे, लेकिन श्मशान होने की वजह से कोई कलाकार वहां आने को तैयार नहीं था। तब बनारस की नगरवधुओं ने मानसिंह को यह संदेश भेजा कि वे उस सांस्कृतिक कार्यक्रम का हिस्सा

लोकसभा चुनाव के बाद यूपी में किसके सिर सजेगा सबसे ज्यादा सीटों का ताज, सट्टा बाजार ने कर दिया बड़ा खेल

यूपी ने किसकी झोली भरी और किसके हाथ खाली रखे। यूपी में NDA ने मोदी लहर में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया था। 2014 में एनडीए को कल 73 सीटों पर जीत हासिल थी। इसमें बीजेपी को 71 और उसके सहयोगी अपना दल सोनेलाल को दो सीट मिली थी।

Latest News

Latest News